A+ A-

सबसे बड़ा डिग्रीधारी


  
प्रसिद्ध बहुशास्त्र ज्ञानी लियोनार्डो डा विन्ची को अपना कामकाज देखने के लिए एक युवक की जरुरत थी, इस विषय में उन्होंने अपने कुछ मित्रों से कहा |

कुछ दिन बाद, एक मित्र ने दो युवकों को लियोनार्डो के पास भेजा | पहला युवक बहुत पढ़ा-लिखा था, उसके पास कई उच्च स्तरीय सर्टिफिकेट और डिग्रियाँ थी जबकि दूसरा युवक सामान्य पढ़ा-लिखा था |

जब दोनों युवक लियोनार्डो से मिले, तो कई सारी डिग्रियाँ होने के बावजूद लियोनार्डो ने पहले युवक को नौकरी पर नहीं रखा, बल्कि दूसरा युवक जिसके पास कोई ख़ास बड़ी डिग्री नहीं थी, उसे नौकरी पर रख लिया |

जब लियोनार्डो के मित्र को यह बात पता चली, तो उसने लियोनार्डो से पूछा- क्या मैं जान सकता हूँ कि तुमने एक सामान्य डिग्रीधारी युवक को नौकरी पर क्यों रखा जबकि मैंने एक उच्च स्तरीय डिग्रीधारी युवक को भी तुम्हारे पास भेजा था ?

लियोनार्डो ने बताया- मित्र, जिस युवक का मैंने चयन किया है, उसके पास पहले डिग्रीधारी युवक से ज्यादा बड़ी डिग्रियाँ हैं |

मित्र ने असमंजस भाव से पूछा- लेकिन मैंने तो उसके पास सामान्य डिग्रियाँ ही देखी थी !

लियोनार्डो ने समझाया- मित्र, चयनित युवक ने मेरे कमरे में आने से पूर्व मुझसे अनुमति मांगी | अंदर आने के बाद, वह तब तक शांति से खड़ा रहा जब तक कि मैंने उसे बैठने को नहीं कहा | मैंने उससे जो भी सवाल पूछे उसने बिना घुमाए-फिराए उनके संक्षिप्त जवाब दिए और बातचीत खत्म होने के बाद, मेरी इजाजत लेकर नम्रतापूर्वक चला गया | उसने कोई खुशामद नहीं करी, न ही किसी की सिफारिश लेकर आया था, ज्यादा पढ़ा-लिखा न होने के बावजूद उसे स्वयं की योग्यता और ईमानदारी पर पूर्ण विश्वास था, ऐसी कीमती डिग्रियाँ बहुत कम लोगों के पास होती हैं | उधर पहले युवक के पास इनमें से कोई भी विशेषता नहीं थी, वह सीधा कमरे में चला आया, बिना आज्ञा कुर्सी पर बैठ गया और अपनी योग्यता के विषय में बात करने के बजाय तुमसे अपनी जान-पहचान के बारे में बताने लगा, अब तुम ही बताओ कि उसकी उच्च डिग्रियों की क्या कीमत है ?

मित्र के पास कोई जवाब नहीं था, उसे लियोनार्डो की बात अच्छे से समझ आ गयी थी |

प्रिय दोस्तों, अच्छा व्यवहार और आचरण से सम्पन्न व्यक्ति सबसे बड़ा डिग्रीधारी होता है, क्योंकि अच्छा आचरण और मेहनती बनना किसी उच्च डिग्री हासिल करने से कम नहीं है | धन्यवाद|